News Flash: चित्रकोट विधानसभा उप निर्वाचन-2019,नाम निर्देेशन पत्रों की संवीक्षा में दो उम्मीदवारों का नाम निर्देशन पत्र निरस्त अब सात उम्मीदवार शेष  ||   सोशल मीडिया अकाउंट को आधार से जोड़ने की मांग(लक्ष्मी)  ||   छात्रा से यौन शोषण का आरोपी चिन्मयानंद गिरफ्तार, पूछताछ में बोला- मैं शर्मिंदा हूं(लक्ष्मी)  ||    जानिए बड़ौदा विधानसभा सीट के बारे में(लक्ष्मी)  ||   पाकिस्तान की ओर से राजस्थान में टिड्डी दलों के हमले की आशंका, चार जिले निशाने पर(लक्ष्मी)  ||   राजस्थान में तीन लोगों ने किया 15 साल की लड़की का रेप, आरोपी गिरफ्तार(लक्ष्मी)  ||   राजस्थान का बदला लेंगी मायावती? बसपा के आक्रामक तेवर से कांग्रेस की धड़कनें तेज(लक्ष्मी)    ||   पैसा, पैरवी और पावर वाले विधायक को बचाने में लगी सरकार''(लक्ष्मी)  ||    दारोगा बहाली आदेश को चुनौती देगी राज्य सरकार (लक्ष्मी)  ||   छात्रा के साथ मौलाना ने किया था रेप, मिली ये सजा(लक्ष्मी)  ||  

वाहन दुर्घटना ने खोली सीआईटी की पोल, वाहन का न था फिटनेस और न बीमा छत्तीसगढ़ पैरेंटस एसोसियेशन ने की कलेक्टर और क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी से शिकायत.[प]

25 Jan 2019 05:29pm |


राजनांदगांव।



शहर में सीआईटी कॉलेज बाईपास के पास बुधवार रात्रि लगभग 7.30 बजे 90 बच्चों से खचाखच भरी 42 सीटर वाहन क्रमांक सीजी 08 बी 5149 के दुर्घटना की खबर से सीआईटी संस्था की पोल खोल कर रख दिया है। इस वाहन के मालिक ओम साईनाथ शिक्षण संस्थान है और इस वाहन का फिटनेस 6 जुलाई 2018 को समाप्त हो गया था, यानि वाहन के पास ना तो फिटनेस था और ना बीमा, जबकि यह वाहन 42 सीटर है और वीटीपी संस्था सीआईटी में मुख्यमंत्री कौशल विकास योजना के अंतर्गत प्रशिक्षण ले रहे 90 पंजीकृत बच्चों को ठूंस-ठूंसकर भरकर ले जाया जा रहा था। वाहन मालिक ओम साईनाथ शिक्षण संस्थान और वीटीपी संस्था सीआईटी के संचालकगणों पर अपराधिक मामला दर्ज की मांग पैरेंट्स एसोसियेशन द्वारा कलेक्टर एवं क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी से किया जा चुका है।



छत्तीसगढ़ पैरेंटस एसोसियेशन के प्रदेश अध्यक्ष क्रिष्टोफर पॉल का कहना है कि वाहन मालिक ओम साईनाथ शिक्षण संस्थान जो गैर-सरकारी संस्था है, इसलिए इस संस्था को व्यापार करने का अधिकार नहीं है, लेकिन इस संस्था ने अपने वाहन को वीटीपी संस्था सीआईटी और ग्रीन फिल्ड स्कूल को कैसे दिया गया और किस शर्तो पर दिया गया इसकी भी तत्काल जांच किये जाने की जरूरत है। इसके अलावा वाहन मालिक ओम साईनाथ शिक्षण संस्थान के पास और कितनी वाहन है जिसका फिटनेस समाप्त हो चुका है, जो गैर-कानून ढंग से शहर व जिले में दौड़ रही है, इसकी भी गंभीरता से जांच किये जाने की जरूरत है।


सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार वीटीपी संस्था सीआईटी के द्वारा मुख्यमंत्री कौशल विकास योजना के अंतर्गत वर्ष 2014 से लेकर वर्ष 2018 तक 2000 से अधिक बेरोजगार लोगों को प्रशिक्षित किया जा चुका है, जिसके लिये इस वीटीपी संस्था को आजीविका मिशन के द्वारा करोड़ों रूपये का भुगतान किया जा चुका है, लेकिन सवाल यह उठता है कि 2000 से अधिक बेरोजगार लोगों ने प्रशिक्षण पाया है, लेकिन क्या उन सभी बेरोजगार लोगों को रोजगार मिल पाया है, क्योंकि आजीविका मिशन के द्वारा इस शर्त पर वीटीपी संस्थाओं को पूर्ण भुगतान दिया जाता है, जब सभी प्रशिक्षित लोगों को रोजगार प्राप्त हो जाता है। आजीविका मिशन के रिपोर्ट के अनुसार वीटीपी संस्था सीआईटी को जिले में दूसरे नंबर का दर्जा प्राप्त है, क्योंकि लिवलीहुड कॉलेज के बाद यही वह वीटीपी संस्था है जिसे पास सबसे ज्यादा ट्रेडों का वर्क ऑडर्र प्राप्त है और सबसे ज्यादा बच्चे प्रशिक्षण पा रहे है।  



बाक्स..
पुलिस ने क्यों नहीं की कार्यवाही
बुधवार रात्रि लगभग 7.30 बजे बजे 90 बच्चों से खचाखच भरी 42 सीटर वाहन क्रमांक सीजी 08-बी 5149 का दुर्घटना हुआ। मौके में सीटी कोतवाली की पुलिस और पेट्रोलिंग टीम वहां पहुंच गई थी, लेकिन दुर्घटनाग्रस्त वाहन को पुलिस ने तत्काल जब्त क्यों नहीं किया, जबकि इस वाहन का फिटनेस 6 जुलाई 2018 को समाप्त हो गया था, यानि वाहन के पास ना तो फिटनेस था और ना बीमा, इसके बावजूद पुलिस ने इस वाहन के मालिक और वीटीपी संस्था पर कोई कार्यवाही नहीं किया इसको लेकर भी शहर में चर्चा हो रही है।
 

ताजा समाचार



  • Follow us:
.