News Flash: आदर्श आचार संहिता का खुला उल्लंघन किया जा रहा है।  ||   बिलासपुर: 13 दिसंबर को होगी नान घोटाला मामले की अगली सुनवाई      ||   बिलासपुर: 13 दिसंबर को होगी नान घोटाला मामले की अगली सुनवाई      ||   धमतरीः कांग्रेस ने 16 लोगों को किया पार्टी से बाहर  ||   छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनावः 10 सीटों पर वोटिंग खत्म, 3 बजे तक कुल 41.18 % प्रतिशत मतदान   ||      रायपुरः अमित शाह का शिवरीनारायण में पामगढ़ प्रत्याशी अम्बेश जांगड़े जी के पक्ष में धुंआधार प्रचार     ||   छ.ग.वि.चु.: बस्तर संभाग और राजनांदगांव मे पहले चरण की 10 सीटों पर मतदान बंद    ||   छ.ग. वि.चु. : जगदलपुर मे पहले चरण की 10 सीटों पर मतदान बंद    ||   छत्तीसगढ़ में आज पहले चरण के लिए वोटिंग जारी, 18 सीटों के लिए 192 प्रत्याशी मैदान में   ||   छ.ग. विधानसभा चुनावः चुनाव के दिन भी नक्सलियों का आतंक जारी, दंतेवाड़ा में किया IED ब्लास्ट  ||  

मुंबईःभयंकर बारिश का खतरा हाइ अलर्ट पर मुंबई BMC का आदेश- 24 घंटे ड्यूटी पर रहें अधिकारी[]

07 Jun 2018 11:50am |

मुंबईः

मौसम विभाग की भविष्यवाणी के अनुसार अगर इस सप्ताहांत में महानगर मुंबई में भारी बारिश होती है तो यह हाल के वर्षों में जून के महीने में 24 घंटे में होने वाली सबसे भयंकर बारिश का रिकॉर्ड दर्ज करेगी। भारतीय मौसम विभाग की भविष्यवाणी के अनुसार, अगले 2-4 दिनों में मुंबई में 200 मिमी बारिश का अनुमान है। साल 2015 में जून के महीने में इसी तरह की भयंकर बारिश रिकॉर्ड की गई थी उस दौरान मुंबई में 283 मिमी बारिश हुई थी। इसी बीच राज्य सरकार और बृहन्नमुंबई म्यूनिसिपल कार्पोरेशन (बीएमसी) इस बारिश से बचने के उपायों पर गंभीरता से विचार कर रही है।

हालांकि मुंबईवासियों को भयंकर गर्मी से थोड़ी राहत जरूर मिली है। सोमवार को हल्की बारिश ने शहर का मौसम खुशनुमा बना दिया। आम तौर पर मुंबई में 7 से 10 जून के बीच बारिश शुरू होती है लेकिन इस बार केरल में भी तीन दिन पहले ही मॉनसून प्रवेश कर गया था। अब मौसम विभाग का अनुमान है कि मॉनसून 9 जून को मुंबई में प्रवेश करेगा। मौसम विभाग के अनुसार, 11 जून तक 200 मिमी बारिश होने के आसार हैं।

चार साल पहले 2015 में जून के महीने में 200 मिमी बारिश हुई, 19 जून को सबसे अधिक 283.4 मिमी बारिश रिकॉर्ड किया गया था जो उस साल का सबसे उच्चतम वर्षा का रिकॉर्ड था। हालांकि मुंबई में 1991 में जून के महीने में सबसे ज्यादा बारिश रिकॉर्ड किया गया था उस दौरान 399 मिमी बारिश था।

आईएमडी के सीनियर साइंटिस्ट अजय कुमार ने कहा कि हमने मुंबई में भारी बारिश का अनुमान लगाया है, आमतौर पर ऐसा नहीं होता है, लेकिन ऐसा पहले भी हो चुका है इसलिए सतर्कता बरतना जरूरी है। लोगों को इसे 2005 की बारिश से तुलना करके नहीं देखना चाहिए, इसलिए उन्हें भयभीत होने की जरुरत नहीं है। 

 

बीएमसी ने बुधवार को अपने सभी अधिकारियों को आदेश जारी किया है कि वे वीकेंड पर अपनी ड्यूटी पर रहें। आपदा प्रबंधन की टीम को भी शहर के परेल, मानखुर्द और अंधेरी जैसे इलाकों पर तैनात रहने के निर्देश दिए गए हैं। नेवी के अधिकारियों को भी कोलाबा, वर्ली, घाटकोपर, ट्रांबे, मलाड जैसे बाढ़ अनूकूल इलाकों में चौकन्ना रहने के आदेश जारी किए गए हैं। इन सबके अलावा फायर ब्रिगेड के छह बचाव दल को भी समुद्री तटों पर तैनात किया गया है। नगर निगम के स्कूलों में बने शेल्टर्स को 24 घंटे खुला रखने का आदेश जारी किया गया है।

राज्य आपदा प्रबंधन विभाग ने जिलों में अलर्ट जारी कर दिया है। राज्य के राहत व पुनर्वास मंत्री चंद्रकांत पाटिल ने जिला प्रशासन को हाइ अलर्ट पर रहने का आदेश दिया है साथ ही नागरिकों को सावधानी बरतने को कहा है। मुंबई में अब तक 77.9 मिमी बारिश दर्ज किया जा चुका है। साथ ही अधिकतम तापमान गिरा है और वातावरण में नमी की मात्रा बढ़ी है।

 

 

 


ताजा समाचार



  • Follow us: