News Flash: जज के बेटे से हुआ था विवाद, गुस्से में गनर ने चलाई गोली  ||   UP मे ट्रेन हादसा: रायबरेली में न्यू फरक्का एक्सप्रेस की 9 बोगियां पटरी से उतरी, 7 की मौत 50 घायल    ||    वाशिंगटनः निक्की हैले ने अमेरिकी राजदूत का पद छोड़ा, ट्रंप ने कबूला इस्तीफा  ||   झारखंड: चलती ट्रेन में युवती से रेप, बेहोश होने पर मरा समझकर छोड़ा, लड़ रही जिंदगी की जंग    ||   पाकिस्‍तान को 48 हाईटेक ड्रोन देगा चीन  ||   UP: अवैध हथियार की फैक्ट्री का पर्दाफाश, 5 अरेस्ट, 84 पिस्टल बरामद  ||   आंध्र प्रदेश की 5 सीटों पर उपचुनाव की कोई जरूरत नहीं: चुनाव आयोग    ||     ||   उत्तराखंड: आतंकी लश्कर-ए-तैयबा ने हरिद्वार समेत 12 रेलवे स्टेशनों को बम से उड़ाने की धमकी, अलर्ट   ||   नईदिल्ली: सुप्रीम कोर्ट ने केन्द्र सरकार से कहा- राफेल की खरीद पर फैसले की प्रक्रिया का बताएं ब्यौरा  ||  

पेट्रोल की बढ़ती कीमत को पटना ने दी 'मात', निकाल लिया ये जुगाड़[प]

25 May 2018 04:08pm |

पटनाः

बिहार के लोग समस्या का समाधान खोजने में कभी पीछे नहीं रहते हैं। पेट्रोल की कीमत 80 प्लस हो गई है। लोगों को चिंता सता रही है कि कहीं आने वाले दिनों में पेट्रोल तीन अंकों का आंकड़ा पार करते हुए 100 के करीब न पहुंच जाए। हैरान-परेशान लोगों ने पेट्रोल का विकल्प देखना शुरू कर दिया। कई युवा प्रोफेशनल्स अब ऑफिस के लिए शेयरिंग करके बाइक से कार्यालय पहुंच रहे हैं। वहीं कुछ लोगों ने शाम को सब्जियां लाने के लिए धूल खा रही साइकिल निकाल ली है।

इलेक्ट्रिक साइकल से पटना का लगाते हैं चक्कर

रवि आनंद हिंदुस्तान यूनिलिवर कंपनी में कार्यरत हैं। उनके पास सुपर बाइक है, मगर जब से पेट्रोल का दाम तेजी से बढऩा शुरू हुआ उन्होंने हल खोज निकाला। अब रवि के पास सुपर बाइक के साथ इलेक्ट्रिक साइकल भी है। जो बैट्री से चलती है। रवि बताते हैं कि अक्सर होता है कि हम एक किलोमीटर भी जाने के लिए बाइक निकाल लेते हैं। जहां हम साइकिल या पैदल भी जा सकते हैं। इसी को ध्यान में रखकर मैंने पिछले दिनों इलेक्ट्रिक साइकिल ली है। शहर में इधर-उधर छोटे-मोटे काम करने के लिए अब साइकिल का ही इस्तेमाल करता हूं। ये साइकिल एक बार चार्ज करने पर ढाई घंटे तक 70 किमी दूरी तक चलाई जा सकती है। खास बात यह इसकी स्पीड 25 से 30 किमी प्रति घंटे की होती है।

ऋषि हल्दीराम कंपनी में काम करते हैं। यूं तो उन्होंने अपने पास बुलेट बाइक रखी है, मगर अब वे छोटे-मोटे काम के लिए पैदल ही निकल जाते हैं या फिर साइकिल का प्रयोग करते हैं। पेट्रोल का दाम जब आसमां छूने निकला तो उन्होंने अपना बजट ठीक करने के लिए एक और तरकीब ढूंढ निकाली। अब वे बाइक शेयरिंग करके ऑफिस जाते हैं। ऋषि बताते हैं, मेरे पास बुलेट बाइक है। जो वैसे ही कम माइलेज देती है। अब मैं छोटे-मोटे काम के लिए दोस्तों के साथ पैदल निकलना पसंद करता हूं। इन दिनों ऑफिस जाने बाइक शेयरिंग की तकनीक अपनाई है। कभी मैं अपनी बाइक से ऑफिस जाता हूं तो कभी दोस्त की गाड़ी पर। इस तरह हम दोनों ने पेट्रोल की बढ़ती कीमत में भी अपना बजट बिगडऩे नहीं दिया है।

ऑफिस ऑवर में नहीं निकालते हैं बाइक

प्रवीण झा बोरिंग रोड के एक्सिस बैंक में पीओ के पद पर कार्यरत हैं। प्रवीण बताते हैं, ऑफिस ऑवर में अपनी बाइक या कार निकालने से बचता हूं। इस समय शहर के हर कोने में भीषण जाम की समस्या रहती है। ऑफिस के समय गाड़ी निकालने से समय अधिक तो लगता ही है, गाड़ी तेल भी अधिक पीती है। इसलिए कोशिश होती है कि घर से समय से पहले निकला जाए। ताकि जाम से तो बचा ही जाए, साथ में गाड़ी में तेल भी कम लगे। यदि हमारा शाम को घूमने का भी प्लान होता है तो हम सात बजे के बाद ही घर से निकलते हैं।

बढ़ती महंगाई में ऐसे बचाएं पेट्रोल या डीजल

साइकिल का का करें प्रयोग

जितना संभव हो नजदीक के लिए पैदल चलें और उससे थोड़ी दूर ज्यादा हो तो साइकिल का प्रयोग करें। अपनी बाइक या कार का इस्तेमाल तभी करें, जब कई लोगों को ट्रेवल करना जरूरी हो। ऑफिस आने-जाने या सब्जियां लाने के लिए साइकिल का प्रयोग करें। इससे पेट्रोल तो बचेगा ही साथ आप पर्यावरण के भी सच्चे साथी कहलाएंगे।

जाम में गाड़ी न निकालें

ऑफिस ऑवर में गाड़ी से निकालने से बचें। कारण, इस समय सड़क पर ज्यादा भीड़ होती है। जाम में फंस रहने के कारण गाड़ी अधिक तेल पीती है। कोशिश करें ऑफिस ऑवर से पहले गाड़ी सड़क पा निकालें। इसी तरह शाम में पांच से सात बजे के बीच भी ट्रैफिक जाम की समस्या रहती है। लिहाजा इस समय गाड़ी न निकालें।

गाड़ी पर बेफालतू का वजन न बढ़ाएं

जब कभी भी ट्रेवल करें तो कोशिश करें कार पर बेफालूत का वजन न बढ़ाएं। कार पर अगर भार ज्यादा हो तो तेल की खपत अधिक होती है। इसके अलावा समय-समय पर कार की सर्विसिंग जरूर कराएं। इससे गाड़ी परफॉर्मेंस और माइलेज दोनों बढ़ती है।

बार-बार क्लच का न करें इस्तेमाल

गाड़ी चलाते समय कम से कम क्लच का उपयोग करें। अगर आप क्लच का उपयोग अधिक करेंगे तो उस समय आप का फ्यूल ज्याद खर्च होगा। बार-बार क्लच लेने से क्लच प्लेट के जलने का भी खतरा अधिक रहता है। 

बाइक हो कार इकोनॉमी जोन में चलाएं

यदि आप चाहते हैं कि आपकी बाइक या कार का माइलेज बढ़ाए तो आप गाड़ी में दिए इकॉनोमी जोन नियम का पालन करें। एक्सपर्ट के अनुसार इकोनॉमी जोन में गाड़ी की स्पीड रखने से इंजन पर अधिक जोर नहीं पड़ता है। नतीजा गाड़ी का माइलेज बढ़ जाता है। इसलिए घर से समय से पहले निकलें, ताकि औसत स्पीड में भी आप मंजिल तक पहुंच सके।

एसी का कम करें इस्तेमाल में

गाड़ी का एसी ऑन करके चलने से उसका माइलेज कम हो जाता है। यदि आपको गर्मी लग रही हो तो आप विंडो को खोल सकते हैं। एसी चलाना भी है तो कम पॉवर पर चला सकते हैं। इस विधि द्वारा भी आप पेट्रोल बचा सकते हैं।

 

 


ताजा समाचार



  • Follow us: