News Flash: आदर्श आचार संहिता का खुला उल्लंघन किया जा रहा है।  ||   बिलासपुर: 13 दिसंबर को होगी नान घोटाला मामले की अगली सुनवाई      ||   बिलासपुर: 13 दिसंबर को होगी नान घोटाला मामले की अगली सुनवाई      ||   धमतरीः कांग्रेस ने 16 लोगों को किया पार्टी से बाहर  ||   छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनावः 10 सीटों पर वोटिंग खत्म, 3 बजे तक कुल 41.18 % प्रतिशत मतदान   ||      रायपुरः अमित शाह का शिवरीनारायण में पामगढ़ प्रत्याशी अम्बेश जांगड़े जी के पक्ष में धुंआधार प्रचार     ||   छ.ग.वि.चु.: बस्तर संभाग और राजनांदगांव मे पहले चरण की 10 सीटों पर मतदान बंद    ||   छ.ग. वि.चु. : जगदलपुर मे पहले चरण की 10 सीटों पर मतदान बंद    ||   छत्तीसगढ़ में आज पहले चरण के लिए वोटिंग जारी, 18 सीटों के लिए 192 प्रत्याशी मैदान में   ||   छ.ग. विधानसभा चुनावः चुनाव के दिन भी नक्सलियों का आतंक जारी, दंतेवाड़ा में किया IED ब्लास्ट  ||  

      डबराः  तीन दिन में शुरु नहीं किए काम तो अमानत राशि होगी जब्त  [प]

14 Sep 2018 08:19am |

डबराः

नगर पालिका कार्यालय में गुरुवार को पीआईसी की बैठक आयोजित की गई। बैठक में विभिन्न मुद्दे रखे गए जिसमें विकास कार्य को लेकर कई निर्णयों पर सहमति बनी। वहीं बैठक में निर्णय लिया गया कि शहर में जगह-जगह चलित शौचालय रखे जाएंगे। साथ ही मोटर पंप आदि की भी खरीदारी होगी। बैठक में मुख्य मुद्दा था कि नगर पालिका के करीब 25 ठेके दार ऐसे हैं जिन्होंने दो से तीन वर्ष पूर्व करीब अलग-अलग वार्डों में 50 से अधिक विकास कार्य लिए। लेकि न उनकी ओर से अभी तक शुरु नहीं कि ए गए हैं। जिस पर बैठक में सहमति बनी कि सभी ठेकेदारों को नोटिस जारी कर कहा जाएगा कि वे तीन दिन के भीतर काम चालू करें नहीं तो उनकी अमानत राशि जब्त कर ली जाएगी। 

पीआईसी बैठक की अध्यक्षता नगर पालिका अध्यक्ष आरती मौर्य की ओर से की गई। बैठक में सर्वसम्मति से यह निर्णय लिया गया कि 19 लाख रुपए की लागत से शहर में दो नए डीलक्स शौचालय बनाए जाएंगे। इसके अलावा शहर में अलग-अलग जगहों पर भी 15 लाख रुपए की लागत से चलित शौचालय खरीदे जाकर रखवाए जाएंगे। बैठक में यह भी निर्णय लिया गया कि शहर में जितनी भी कॉलोनी हैं उनके डवलपमेंट के लिए एस्टीमेट तैयार कि या जाएगा। ताकि कॉलोनी सुविधानुसार विकसित हो सके । इसके अलावा पेयजल व्यवस्था के लिए समर्सिबल पपं सेट 15 लाख रुपए की लागत से खरीदे जांएगे। वहीं पेयजल को साफ करने के लिए सोडियम हाइपोक्लोराइड एवं अन्य कैमीकल 18 लाख रुपए की लागत से खरीदे जाएंगे।

 

 


ताजा समाचार



  • Follow us: