News Flash: चित्रकोट विधानसभा उप निर्वाचन-2019,नाम निर्देेशन पत्रों की संवीक्षा में दो उम्मीदवारों का नाम निर्देशन पत्र निरस्त अब सात उम्मीदवार शेष  ||   सोशल मीडिया अकाउंट को आधार से जोड़ने की मांग(लक्ष्मी)  ||   छात्रा से यौन शोषण का आरोपी चिन्मयानंद गिरफ्तार, पूछताछ में बोला- मैं शर्मिंदा हूं(लक्ष्मी)  ||    जानिए बड़ौदा विधानसभा सीट के बारे में(लक्ष्मी)  ||   पाकिस्तान की ओर से राजस्थान में टिड्डी दलों के हमले की आशंका, चार जिले निशाने पर(लक्ष्मी)  ||   राजस्थान में तीन लोगों ने किया 15 साल की लड़की का रेप, आरोपी गिरफ्तार(लक्ष्मी)  ||   राजस्थान का बदला लेंगी मायावती? बसपा के आक्रामक तेवर से कांग्रेस की धड़कनें तेज(लक्ष्मी)    ||   पैसा, पैरवी और पावर वाले विधायक को बचाने में लगी सरकार''(लक्ष्मी)  ||    दारोगा बहाली आदेश को चुनौती देगी राज्य सरकार (लक्ष्मी)  ||   छात्रा के साथ मौलाना ने किया था रेप, मिली ये सजा(लक्ष्मी)  ||  

भागलपुर में डेंगू का कहर, अबतक 33405 लोग डेंगू से पीड़ित, 11 दिनों में आठ ने गंवाई जान(लक्ष्मी)

19 Oct 2019 03:23pm | laxmi

भागलपुर,  

350 संदिग्ध मरीज मायागंज अस्पताल में भर्ती
मायागंज अस्पताल में इस सीजन में 1052 लोगों में किट जांच (एनएस1एजी) में डेंगू पाया गया। जबकि बीते 15 दिनों में डेंगू के 350 संदिग्ध मरीज मायागंज अस्पताल में भर्ती हुए। इनमें 153 लोगों में कन्फर्म डेंगू (एलिजा टेस्ट) होने की पुष्टि हुई। इनमें से तीन मरीज पूर्णिया सदर अस्पताल के थे। ऑल इंडिया मेडिकल लैब टेक्निशियन टेक्नोलॉजिस्ट्स एसोसिएशन (एआईएमएलटीए) के प्रमंडलीय सचिव प्रशांत कुमार सिंह ने बताया जिले के 205 निजी पैथोलॉजी सेंटर में आठ अक्टूबर से लेकर 18 अक्टूबर (11 दिन) के बीच 32353 मरीजों में डेंगू (एनएस1एजी जांच में डेंगू पॉजीटिव) की पुष्टि हुई।

गांवों से ज्यादा शहर में डेंगू
तीन सितंबर लेकर 18 अक्टूबर के बीच यानी डेढ़ माह में मायागंज अस्पताल में डेंगू के 87 मरीज भर्ती हुए। जिला वेक्टर बॉर्न डिजीज कंट्रोल कार्यालय द्वारा जारी आंकड़ों पर नजर डालें तो पता चलता है कि इस सीजन में ग्रामीगों से ज्यादा शहरियों को डेंगू का डंक लगा। ग्रामीण क्षेत्र में जहां 35 लोगों को डेंगू हुआ तो शहरी क्षेत्र में 65 लोगों को। ग्रामीण क्षेत्र में जहां गोराडीह, कहलगांव, नाथनगर, नारायणपुर, पीरपैंती, सबौर, सन्हौला, सुल्तानगंज, बिहपुर, जगदीशपुर, इस्माइलपुर व खरीक क्षेत्र में डेंगू का आंतक रहा। तो शहरी क्षेत्र में तातारपुर, आदमपुर, तिलकामांझी, मोजाहिदपुर, बरारी, हबीबपुर, शहबाजनगर, घंटाघर, इशाकचक, मिरजानहाट, छोटी खंजरपुर, सुरखीकल, बबरगंज, जब्बारचक, कोतवाली चौक, लालकोठी में डेंगू के सर्वाधिक मरीज मिले। 

तीन गुना तक पहुंच गयी प्लेटलेट्स की मांग
पूरे जिले में डेंगू प्लेटलेट्स की आपूर्ति के लिए सिर्फ एक ही सेंटर ब्लड बैंक के रूप में मायागंज अस्पताल में है। यहां हर रोज 30 से 35 यूनिट प्लेटलेट्स सेपरेटर मशीन के जरिये बनाया जा रहा है। आपूर्ति की बात करें तो बीते 15 दिनों में प्लेटलेट्स की आपूर्ति संख्या में तीन गुनी वृद्धि हुई है। यहां से हर रोज 25 से 30 यूनिट प्लेटलेट्स की आपूर्ति की जा रही है। जबकि शुक्रवार को ब्लड बैंक में 35 यूनिट प्लेटलेट्स स्टॉक में रखा हुआ था। चिकित्सकों के मुताबिक, जब प्लेटलेट्स की संख्या 20 हजार या इससे नीचे होने लगे तो डेंगू के मरीज को प्लेटलेट्स चढ़ाना जरूरी हो जाता है। 
 


ताजा समाचार



  • Follow us:
.