कोरोना के मामलों में मामूली कमी, 24 घंटे में 3.5 लाख से ज्यादा केस, तीन हजार से अधिक मौतें, पाबंदियां बढ़ीं

Total Views : 81
Zoom In Zoom Out Read Later Print

रविवार रात 12 बजे तक मिली जानकारी के अनुसार 350598 नए मामले आने से संक्रमण के मामलों की कुल संख्या बढ़कर 19900371 हो गई। वहीं 3071 और लोगों की मौत के साथ अब तक कोरोना से जान गंवाने वालों की संख्या बढ़कर 218595 हो गई।

देश में रविवार को संक्रमण के मामलों में मामूली कमी देखी गई। फिर भी 24 घंटों में 3.64 लाख से अधिक नए मामले दर्ज किए गए। इस दौरान 3,300 मौतें भी हुई। रविवार रात 12.45 बजे तक मिली जानकारी के अनुसार 3,64,910 नए मामले आने से संक्रमण के मामलों की कुल संख्या बढ़कर 1,99,14,633 हो गई। वहीं 3,300 और लोगों की मौत के साथ अब तक कोरोना से जान गंवाने वालों की संख्या बढ़कर 2,18,824 हो गई। 

देश में 34,11,350 सक्रिय मामले

मौजूदा वक्‍त में देश में 34,10,161 सक्रिय मामले हैं। इस अवधि में 2,95,154 लोगों को अस्पताल से छुट्टी दी गई। इस तरह अब तक 1,62,77,092 लोग इस बीमारी को मात दे चुके हैं। हालांकि स्वास्थ्य मंत्रालय ने रविवार सुबह आठ बजे जो आंकड़े जारी किए उनके अनुसार बीते 24 घंटों में 3,689 लोगों की कोरोना से मौत होने की जानकारी सामने आई। इस बीच सक्रिय मामलों की संख्या 33, 49,644 हो गई है। यह संक्रमण के कुल मामलों का 17.13 फीसद है। 

मौजूदा वक्‍त में देश में 34,10,161 सक्रिय मामले हैं। इस अवधि में 2,95,154 लोगों को अस्पताल से छुट्टी दी गई। इस तरह अब तक 1,62,77,092 लोग इस बीमारी को मात दे चुके हैं। हालांकि स्वास्थ्य मंत्रालय ने रविवार सुबह आठ बजे जो आंकड़े जारी किए उनके अनुसार बीते 24 घंटों में 3,689 लोगों की कोरोना से मौत होने की जानकारी सामने आई। इस बीच सक्रिय मामलों की संख्या 33, 49,644 हो गई है। यह संक्रमण के कुल मामलों का 17.13 फीसद है। 

क्‍या कहते हैं आंकड़े

देश में बीते सात अगस्त कोरोना संक्रमण के मामलों ने 20 लाख का आंकड़ा पार किया था। जबकि 50 लाख का आंकड़ा 16 सितंबर और एक करोड़ का आंकड़ा 19 दिसंबर को पार हुआ था। बीते अप्रैल माह की 19 तारीख तक देश में 1.50 करोड़ से अधिक लोग संक्रमित हो चुके थे।

18,04,954 नमूनों की जांच

आइसीएमआर के अनुसार देश में अब 29,01,42,339 नमूनों की जांच हो चुकी है। जबकि शनिवार (एक मई) को 18,04,954 नमूनों की जांच की गई। देश में अब तक कुल 2,15,542 मौतें हुई हैं जिनमें महाराष्ट्र से 69,615, दिल्ली से 16,559, कर्नाटक से 15,794, तमिलनाडु से 14,193, उत्तर प्रदेश से 12,874, बंगाल से 11447, पंजाब से 9,160 और छत्तीसगढ़ से 8,810 शामिल हैं।महाराष्ट्र में सर्वाधिक मौतें 

बीते 24 घंटों में कोरोना से जिन 3,071 और लोगों की मौत हुई उनमें महाराष्ट्र से 669, दिल्ली से 407, उत्तर प्रदेश से 288, कर्नाटक से 217, राजस्थान से 159, तमिलनाडु से 153, बंगाल से 92 और बिहार से 97 लोग शामिल हैं।

सर्वाधिक नए केस वाले राज्य 

राज्य-नए मामले-कुल संक्रमित (लाख में)

महाराष्ट्र 56,647-47.22

कर्नाटक 37,733-16.01

केरल 31,957-16.38

उत्तर प्रदेश 30,857-13.13

आंध्र प्रदेश 23,920-11.45

तमिलनाडु 20,768-12.07

दिल्ली 20,394-11.94

राजस्थान 18,298-6.33

बंगाल 17,515-8.63

बिहार 13,534-4.93

भोपाल और ओडिशा में बढ़ी पाबंदियां

कोरोना के मामलों में तेज बढ़ोतरी के चलते मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में 12 अप्रैल से तीन मई तक लगे कोरोना कर्फ्यू को 10 मई तक के लिए बढ़ा दिया गया है। वहीं ओडिशा सरकार ने राज्य में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए पांच मई से राज्य में 14 दिन का लॉकडाउन लगा दिया है।


हरियाणा और जम्‍मू-कश्‍मीर में उठाए गए सख्‍त कदम

हरियाणा सरकार ने कोरोना संक्रमण पर लगाम लगाने के लिए राज्य में तीन मई से एक हफ्ते का लॉकडाउन लागू कर दिया है। इससे पहले हरियाणा के नौ जिलों में वीकेंड कर्फ्यू लागू किया गया था। वहीं जम्मू-कश्मीर में 31 मई तक सभी स्कूल, कॉलेज, विश्वविद्यालय, तकनीकी और कौशल विकास संस्थान बंद रहेंगे।

पीएम मोदी ने की ऑक्सीजन की उपलब्धता की समीक्षा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को विशेषज्ञों के साथ एक वर्चुअल बैठक में आक्सीजन और दवाओं की उपलब्धता की समीक्षा की। उन्होंने कोरोना महामारी के संबंध में मानव संसाधन की स्थिति की समीक्षा भी की और इसे बेहतर करने के तरीके भी बताए। बैठक के दौरान, छात्रों को प्रोत्साहित करने और मेडिकल और नर्सिग कोर्स के पास-आउट को कोविड ड्यूटी में शामिल करने के लिए प्रोत्साहित करने के लिए कई कदम उठाए गए।

नाइट्रोजन प्लांट को ऑक्सीजन प्लांट में बदलने पर भी विचार

बैठक में सरकार ने आक्सीजन का उत्पादन करने के लिए मौजूदा नाइट्रोजन प्लांट के रूपांतरण की व्यवहार्यता पर भी विचार किया गया। बैठक में नाइट्रोजन प्लांट को परिवर्तित कर आक्सीजन उत्पादन की संभावनाओं पर चर्चा की गई। बैठक में उन 14 की पहचान की गई है, जहां नाइट्रोजन प्लांट का रूपांतरण हो रहा है। बैठक में अधिकारियों ने बताया कि उद्योग संघों की मदद से 37 नाइट्रोजन संयंत्रों की भी पहचान की गई है।




See More

Latest Photos