तमिलनाडु चुनाव: जयललिता और करुणानिधि के बाद अगला खेवनहार कौन?

Total Views : 69
Zoom In Zoom Out Read Later Print

अगले कुछ हफ़्तों में अन्य राज्यों के साथ तमिलनाडु में भी विधानसभा चुनाव होने हैं. चुनाव की तारीख़ों का एलान होने के बाद राज्य में सत्ता की दौड़ में शामिल पार्टियां ज़ोर-शोर से चुनाव प्रचार में लगी हुई हैं

बीते पांच दशकों से यहां की राजनीति में दो पार्टियां - डीएमके (द्रविड़ मुन्नेत्र कड़गम) और एआईडीएमके (ऑल इंडिया अन्ना द्रविड़ मुन्नेत्र कड़गम) सबसे महत्वपूर्ण रही हैं. 2016 विधानसभा चुनाव के छह महीने बाद ही उस समय की मुख्यमंत्री और एआईडीएमके प्रमुख जे जयललिता की मौत हो गई थी. उसके बाद 2018 में पूर्व मुख्यमंत्री और डीएमके प्रमुख करुणानिधि की भी मौत हो गई.

इन दोनों अहम नेताओं की मौत के बाद यहां पहली बार विधानसभा चुनाव हो रहे हैं. ऐसे में माना जा रहा है कि ये चुनाव बेहद दिलचस्प हो सकते हैं. यहां अब इन दोनों पार्टियों के लिए एक बार फिर से अपनी मज़बूती साबित करने की चुनौती है.

एआईडीएमके के साथ गठबंधन में उतरी बीजेपी इस बार दक्षिण भारत में अपना समर्थन बढ़ाने की पुरजोर कोशिश कर रही है. वहीं कांग्रेस ने चुनावों में डीएमके से हाथ मिलाया है.

See More

Latest Photos