करुणानिधि ने अपने बेटे का नाम इसलिए स्टालिन रखा था

Total Views : 69
Zoom In Zoom Out Read Later Print

स्टालिन ने डीएमके के एक स्थानीय प्रतिनिधि के तौर पर अपने राजनीतिक करियर की शुरुआत की थी.

स्टालिन जब डीएमके की युवा इकाई के सचिव के तौर पर चर्चा में आए, तब इसकी वंशवाद की राजनीति कहकर आलोचना की गई. बाद में अपनी मेहनत से स्टालिन ने साबित कर दिया कि उन्हें सिर्फ़ इसलिए सत्ता नहीं मिली है क्योंकि वो करुणानिधि के बेटे हैं.

एम करुणानिधि और उनकी दूसरी पत्नी दयालु अम्मल के घर एक मार्च, 1953 को स्टालिन का जन्म हुआ था. एमके मुथु और एमके अलागिरी के बाद वो करुणानिधि के तीसरे बेटे हैं.

उनके जन्म के चार दिन बाद सोवियत नेता जोसेफ़ स्टालिन का निधन हो गया था, इसलिए करुणानिधि ने उनका नाम स्टालिन रखा.

See More

Latest Photos