अमिताभ से रिश्ते खराब होने का मलाल था:5 महीने पहले अमर सिंह ने अमिताभ से कहा था- जिंदगी और मौत के बीच झूल रहा हूं, आपके परिवार को भला-बुरा कहा, इसका अफसोस है

Total Views : 109
Zoom In Zoom Out Read Later Print

अमर सिंह ने फेसबुक पर एक वीडियो भी पोस्ट किया था, इसमें वे काफी कमजोर नजर आए थे 2012 में एक कार्यक्रम में जया के साथ कहासुनी के बाद बच्चन परिवार से दूरियां बढ़ गई थीं

बॉलीवुड डेस्क. बॉलीवुड से अपनी खास नजदीकियों के लिए मशहूर समाजवादी पार्टी के पूर्व महासचिव अमर सिंह नहीं रहे। अमर सिंह एक वक्त में अमिताभ बच्चन और उनके परिवार के बेहद करीबी थे। हालांकि, बाद में उनके बीच मनमुटाव हो गया था। इसी को दूर करने के लिए 64 साल के अमर सिंह ने 5 महीने पहले को अमिताभ बच्चन और उनके परिवार के खिलाफ कही गई बातों के लिए अफसोस जाहिर किया था।

अमर सिंह ने ट्विटर पर लिखा था, ‘आज मेरे पिताजी की पुण्यतिथि है और मुझे इसी वजह से अमिताभ बच्चन जी ने मैसेज भेजा। जिंदगी के ऐसे मोड़ पर जब मैं जीवन और मौत के संघर्ष में जूझ रहा हूं, मैं अमितजी और उनके परिवार के प्रति बेवजह की बयानबाजी के लिए खेद प्रकट करता हूं। भगवान उन सबकी रक्षा करे।’

अमर सिंह ने 10 साल पुरानी बातें याद की थीं

अमर सिंह ने ट्वीट के अलावा फेसबुक पर वीडियो भी पोस्ट किया था। इसमें उन्होंने कहा- "पिछले 10 वर्षों से मैं न सिर्फ बच्चन परिवार से दूर रहा, बल्कि यह भी प्रयत्न किया कि उनके दिल में मेरे लिए नफरत हो। लेकिन, आज अमिताभ बच्चनजी ने फिर मेरे पिताजी का स्मरण किया तो मुझे ऐसा लगा कि इसी सिंगापुर में 10 साल पहले गुर्दे की बीमारी के लिए मैं और अमितजी लगभग 2 महीने तक साथ रहे थे और इसके बाद हमारा और उनका साथ छूट सा गया।

10 साल बीत जाने पर भी उनकी निरंतरता में कोई बाधा नहीं आई और वे लगातार अनेक अवसरों पर, चाहे मेरा जन्मदिन हो या पिताजी के स्वर्गवास का दिन हो.. वे हर दिन का स्मरण कर अपने कर्तव्य का निर्वहन करते रहे हैं। मुझे लगता है कि मैंने अनावश्यक रूप से ज्यादा उग्रता दिखाई। 60 से ऊपर जीवन की संध्या होती है। एक बार फिर मैं जिंदगी और मौत की चुनौती के बीच से गुजर रहा हूं। वे मुझसे उम्र में बड़े हैं इसलिए उनके प्रति मुझे नर्मी रखनी चाहिए थी और जो कटुवचन मैंने बोला है, उसके लिए खेद भी प्रकट कर देना चाहिए।

मेरे मन में कटुता और नफरत से ज्यादा उनके व्यवहार के प्रति निराशा रही, लेकिन उनके मन में न तो कटुता है और न ही निराशा। ईश्वर से यही प्रार्थना है कि सबको ईश्वर उनके कर्मों के अनुसार यथोचित न्याय दे। हमें सब ईश्वर पर छोड़ना चाहिए बजाय इसके कि हम उसके काम में खुद दखल दें। अमितजी बहुत-बहुत धन्यवाद। "

जया के साथ अमर की कहासुनी के बाद आईं थीं दूरियां

अमर सिंह के मुताबिक, 2012 में अनिल अंबानी की पार्टी में हुई जया बच्चन के साथ हुई कहा-सुनी के बाद से दोनों परिवारों में दूरियां आ गईं थीं। अमर ने कहा था, "अमिताभ ने उस झगड़े में अपनी पत्नी का साथ दिया था। तभी से हमारे बीच दूरियां बढ़ गईं थीं।"

बच्चन परिवार पर लगाए थे कई आरोप

कभी बच्चन परिवार के काफी करीबी रहे अमर सिंह 2012 से इस परिवार से काफी दूर हो गए थे। एक म्यूजिक एल्बम की लॉन्चिंग पर अमर सिंह ने कहा था, "अमिताभ बच्चन एक ऐसे एक्टर हैं जो कई आपराधिक मामलों में लिप्त हैं। पनामा पेपर्स विवाद में भी उनका नाम आ चुका है।"

एक अन्य कार्यक्रम के दौरान अमर सिंह ने कहा था, "ऐश्वर्या मेरी बहुत इज्जत करती है। अभिषेक ने भी आज तक मेरे खिलाफ कुछ नहीं कहा। मुझे अमिताभ बच्चन से भी कोई गिला नहीं है। उन्होंने खुद मुझे चेतावनी दी थी कि मैं जया बच्चन को पॉलिटिकल फील्ड में न उतारूं। मैंने ही उनकी भली सलाह नहीं मानी।"

See More

Latest Photos