सरकारी नौकरी भर्ती मामला / गुजरात के सीएम विजय रुपाणी की मीटिंग में पाटीदार आंदोलन के नेता भी होंगे शामिल

Total Views : 55
Zoom In Zoom Out Read Later Print

गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी। आंदोलनकारी नेता दिनेश बांभणिया और युवराजसिंह जाडेजा ने सीएम रुपाणी को पत्र लिखते भर्ती प्रक्रिया शुरू करने की मांग की थी। अभी कोरोना के चलते स्कूलों - कॉलेजों बंद होने के कारण भर्ती या स्थगित परीक्षा के आयोजन मामले अभी कोई निर्णय लिया गया नहीं है।

अहमदाबाद. गुजरात राज्य में कोरोना की महामारी के कारण स्थगित की गई सरकारी भर्ती की प्रक्रिया शुरू नहीं करने के चलते उम्मीदवारों में रोष है। भर्ती प्रक्रिया के लिए राज्य सरकार पर लगातार दबाव बढ़ता जा रहा है। इसे देखते हुए मुख्यमंत्री जल्द ही अधिकारियों के साथ एक मीटिंग करने जा रहे हैं। इस मीटिंग में आंदोलनकारी नेताओं को भी शामिल करने की खबर आ रही है। 

पिछले सप्ताह सीएम की मीटिंग में हुई थी चर्चा
सीएम विजय रुपाणी की अध्यक्षता में पिछले सप्ताह मिली बैठक में सरकारी भर्ती के बारे में चर्चा की गई थी। फिलहाल कोरोना से स्कूल-कॉलेजों के बंद होने के कारण भर्ती या स्थगित परीक्षा के आयोजन के मामले में अभी कोई निर्णय नहीं लिया जा सका है। हालांकि, आंदोलनकारी नेता दिनेश बांभणिया और युवराजसिंह जाडेजा मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर भर्ती प्रक्रिया शुरू करने की लगातार मांग कर रहे हैं। इसे देखते हुए गुजरात सरकार ने मीटिंग करने का फैसला किया है, जिसमें भर्ती प्रक्रिया के लिए रणनीति पर विचार किया जाएगा।

पाटीदार नेता ने दी थी आंदोलन की धमकी
गौरतलब है कि बीती 1 जुलाई को बी पाटीदार नेता दिनेश बांभणिया के नेतृत्व में मौजूद लोगों ने गुजरात के राजकोट में विरोध-प्रदर्शन किया। सरकारी भर्ती शुरू कराने की मांग को लेकर प्रदर्शन कर रहे लोगों ने राजकोट कलेक्टर को प्रार्थना पत्र देकर कहा था कि अगर भर्ती प्रक्रिया शुरू नहीं की जाती है तो राज्यभर में शांतिपूर्ण आंदोलन किया जाएगा।

See More

Latest Photos