News Flash: प्रदेश अध्यक्ष आलोक सिंह के साथ जिला अध्यक्ष व महिला अध्यक्ष का शपथ ग्रहण..[मुकुन्द]   ||   प्रदेश अध्यक्ष आलोक सिंह के साथ जिला अध्यक्ष व महिला अध्यक्ष का शपथ ग्रहण..[मुकुन्द]   ||   ATM कार्ड छीनकर कार से भागा शातिर, पुलिस ने घेराबंदी कर धर दबोचा..[मुकुन्द]  ||   सफर के दौरान महिला यात्री का सोने का लॉकेट चोरी..[मुकुन्द]  ||   अश्लील वीडियो दिखाकर बच्ची के साथ दुष्कर्म की कोशिश, आरोपी गिरफ्तार..[मुकुन्द]  ||   मुकेश गुप्ता की जमानत याचिका पर हुई सुनवाई, हाईकोर्ट ने फैसला रखा सुरक्षित..[मुकुन्द]  ||   कोयले को दरकिनार कर हाथियों के बारे में राज्य सरकार ने सोचा..[मुकुन्द]  ||   RDA अध्यक्ष मो. अकबर, ने कहा- 450 करोड़ का कर्ज चुकाने लैंड यूज बदलकर बेच सकते हैं प्लॉट..[मुकुन्द]  ||   हिंदू-मुस्लिम के बीच नफरत ढूँढने वालों को संदेश..[मुक्न्द]  ||   Paytm यूजर्स सावधान… ये ऐप अकाउंट से पैसे चुरा सकते हैं..[मुकुन्द]  ||  

विमान नहीं, बस लोगों से मिलने की दें छूट', राहुल गांधी ने स्वीकारा मलिक का निमंत्रण..[मुकुन्द]

13 Aug 2019 04:12pm | Indian News Service

 

कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने मंगलवार को राज्यपाल सत्यपाल मलिक (Satyapal Malik) के उस निमंत्रण को स्वीकार कर लिया, जिसमें मलिक ने उन्हें जम्मू कश्मीर आने के लिए विमान भेजने की बात कही थी। राहुल गांधी ने ट्वीट कर जवाब दिया कि प्रिय राज्यपाल मलिक, मैं और विपक्षी दल का प्रतिनिधि मंडल आपके जम्मू कश्मीर और लद्दाख आने के निमंत्रण को स्वीकार करते हैं। 


                                                                                                                                                                                                        ani file photo

राहुल गांधी ने लिखा, हमें विमान की आवश्यकता नहीं है लेकिन यह सुनिश्चित करें कि हमें वहां के लोग, नेताओं और सैनिकों से मिलने दिया जाएगा। गौरतलब है कि जम्मू कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी के कश्मीर में हिंसा की खबर होने संबंधी टिप्पणी के बारे में कहा था कि कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष को घाटी का दौरा कराने और जमीनी स्थिति का जायजा लेने के लिए वह विमान भेजेंगे।

मलिक ने कहा था कि मैंने राहुल गांधी को यहां आने के लिए न्यौता दिया है। मैं आपके लिए विमान भेजूंगा ताकि आप स्थिति का जायजा लीजिए और तब बोलिए। आप एक जिम्मेदार व्यक्ति हैं और आपको ऐसे बात नहीं करनी चाहिए। राज्यपाल कश्मीर में हिंसा संबंधी कुछ नेताओं के बयान के बारे में पूछे गए सवालों का जवाब दे रहे थे।

शनिवार की रात राहुल गांधी ने कहा था कि जम्मू कश्मीर से हिंसा की कुछ खबरें आयी हैं और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पारदर्शी तरीके से इस मामले पर चिंता व्यक्त करनी चाहिए। राज्यपाल ने कहा कि जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 के प्रावधानों को हटाने में कोई सांप्रदायिक दृष्टिकोण नहीं है।


ताजा समाचार



  • Follow us:
.